मौसम पूर्वानुमान

MP Weather: अब तक 50 जिलों में हुई मानसून की एंट्री, आज इन जिलों में कहर मचाएगी बारिश

×

MP Weather: अब तक 50 जिलों में हुई मानसून की एंट्री, आज इन जिलों में कहर मचाएगी बारिश

Share this article

MP Weather News: मध्य प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से बारिश का दौर जारी है। बुधवार (26 जून) की रात भोपाल-विदिशा में झमाझम बारिश हुई। विदिशा में करीब एक घंटे हुई बारिश की वजह से व्यवस्था अस्त-व्यस्त नजर आई। नालियों का गंदा पानी सड़कों पर बहने लगा, जिससे लोगों को परेशानी का भी सामना करना पड़ा।

मौसम विभाग का अलर्ट:

मौसम विभाग ने आज भी प्रदेश के छह जिलों में बारिश का अलर्ट जारी किया है। मौसम विभाग के अनुसार वेस्टर्न डिस्टरबेंस, साइक्लोनिक सर्कुलेशन और ट्रफ लाइन की वजह से प्रदेश के छह जिलों में आज हवा-आंधी और गरज चमक के साथ बारिश की संभावना है।

इन जिलों में होगी बारिश:

  • भोपाल
  • गुना
  • अशोकनगर
  • विदिशा
  • नर्मदापुरम
  • इंदौर
  • जबलपुर
  • ग्वालियर
  • उज्जैन

विदिशा में बुजुर्ग की मौत:

विदिशा में बुधवार की रात झमाझम बारिश हुई। इस दौरान आंधी के साथ बिजली भी गिरी। ऐसे में बिजली गिरने की वजह से एक बुजुर्ग की मौत हो गई है। दरअसल, बुजुर्ग पानी से बचने के लिए एक पेड़ के नीचे खड़ा था और उसी दौरान बिजली गिर गई।

मौसम विभाग की एडवाइजरी:

बारिश का मौसम शुरू होते ही मौसम विभाग ने लोगों को लिए एडवाइजरी जारी की है कि बिजली गिरने के दौरान पेड़ के नीचे नहीं खड़ा होना है।

गर्मी का सितम जारी:

मानसून ने भले ही प्रदेश में अपनी दस्तक दे दी हो इसके बावजूद कई शहरों में गर्मी का सितम भी जारी है। बुधवार को पृथ्वीपुर-निवाड़ी सबसे गर्म रहा, यहां अधिकतम तापमान 43.5 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम 29.6 रहा। वहीं बिजावर में 41.3-27.9, दमोह में 40.0-30.0, आगर मालवा 39.7-26.6 रहा। इधर बड़े शहरों में तापमान बढ़ा हुआ है। बुधवार को ग्वालियर में अधिकतम तापमान 41.1 डिग्री दर्ज किया गया, जबकि न्यूनतम तापमान 29.0 डिग्री सेल्सियस रहा।

आगे का अनुमान:

मौसम विभाग के अनुसार, अगले कुछ दिनों तक प्रदेश में बारिश का दौर जारी रहने की संभावना है। इसके साथ ही कुछ इलाकों में गरज-चमक के साथ तेज बारिश भी हो सकती है।

महत्वपूर्ण जानकारी:

  • बारिश के दौरान सड़कों पर पानी भरने और जलभराव की संभावना रहती है।
  • बिजली गिरने का खतरा भी रहता है, इसलिए एहतियात बरतें।
  • नदियों और तालाबों के किनारे जाने से बचें।
  • यदि आप बाहर निकलने के लिए मजबूर हैं तो छाता या रेनकोट का इस्तेमाल करें।
  • आपातकालीन स्थिति में स्थानीय अधिकारियों से संपर्क करें।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now