ख़बरें

क्या कभी सोचा है कि दोपहर और शाम के समय आंधी-तूफान अधिक क्यों आते हैं? बड़ा दिलचस्त है इसके पिछे का साइंस

×

क्या कभी सोचा है कि दोपहर और शाम के समय आंधी-तूफान अधिक क्यों आते हैं? बड़ा दिलचस्त है इसके पिछे का साइंस

Share this article

Weather Update: क्या आपने कभी गौर किया है कि ज़्यादातर तूफान दोपहर या शाम के समय ही क्यों आते हैं? कहीं ऐसा तो नहीं है कि ये मौसम विज्ञानियों से छुपकर खेल खेल रहे हों? मज़ाक़ तो मज़ाक़ में है, लेकिन सच्चाई इससे कहीं ज़्यादा रोचक है।

दिन का सबसे गर्म समय होता है दोपहर और शाम का, जब सूरज ढलने से पहले अपनी पूरी तीव्रता से धरती को गर्म करता है। इस समय, सतह के पास हवा तेज़ी से गर्म होती है, जिससे हवा का घनत्व कम हो जाता है और हवा हल्की होकर ऊपर उठने लगती है। ऊपर ठंडी हवा का दबाव कम होता है, जिसके कारण गर्म हवा ऊपर की ओर तेज़ी से खींची जाती है। यह तापमान और दबाव में भारी अंतर तूफान का निर्माण करता है।

गर्मी और नमी: ईंधन का काम

गर्म हवा में वाष्पीकरण की दर भी अधिक होती है, जिसके कारण हवा में नमी की मात्रा बढ़ जाती है। यह नम हवा ऊपर उठते हुए ठंडी हवा के संपर्क में आकर संघनित होने लगती है, जिससे घने बादल बनते हैं। इन बादलों में भारी मात्रा में ऊर्जा जमा होती है, जो बिजली और गरज के रूप में प्रकट होती है।

हवाओं का खेल: तूफान को गति

इसके साथ ही, दोपहर और शाम के समय हवाओं में भी बदलाव होता है। धरती के तापमान में अंतर के कारण हवाएं अलग-अलग दिशाओं में बहने लगती हैं। यह हवाओं का टकराव और घुमराव तूफान को गति प्रदान करता है, जिससे तेज हवाएं और बारिश होती है।

निष्कर्ष: प्रकृति की शक्ति

इस प्रकार, दोपहर और शाम के समय तापमान, दबाव, नमी और हवाओं में होने वाले बदलाव मिलकर आंधी-तूफान का निर्माण करते हैं। यह प्रकृति की शक्ति का ही एक अद्भुत प्रदर्शन है, जो हमें अपनी भव्यता और विनाशकारी क्षमता से विस्मित कर देता है।

अतिरिक्त जानकारी:

  • आंधी-तूफानों का निर्माण केवल दोपहर और शाम के समय ही नहीं होता है, लेकिन इनका खतरा इन समयों में अधिक होता है।
  • सभी क्षेत्रों में आंधी-तूफानों का समान रूप से अनुभव नहीं किया जाता है। कुछ क्षेत्रों में इनकी घटनाएं अधिक होती हैं, जबकि कुछ क्षेत्रों में कम।
  • वैज्ञानिक आंधी-तूफानों का पूर्वानुमान लगाने और इनसे बचाव के उपाय विकसित करने के लिए लगातार प्रयास कर रहे हैं।
WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now