आज का मौसम

भीषण गर्मी के बीच आ गई मॉनसून की तारीख, जानिए आपके यहां कब होगी बारिश?

×

भीषण गर्मी के बीच आ गई मॉनसून की तारीख, जानिए आपके यहां कब होगी बारिश?

Share this article

नई दिल्ली: राजधानी दिल्ली समेत पूरे उत्तर भारत में तीव्र गर्मी का दौर जारी है। दिल्ली में पारा 45 डिग्री सेल्सियस के आसपास पहुंच चुका है, वहीं उत्तर प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान और पंजाब जैसे राज्यों में भी तापमान लगातार बढ़ रहा है। मौसम विभाग ने आगामी कुछ दिनों तक लू चलने की संभावना जताई है।

उत्तर भारत में प्रचंड लू का प्रकोप

जहां उत्तर भारत में भीषण गर्मी से लोग बेहाल हैं, वहीं दक्षिण-पश्चिम मॉनसून धीरे-धीरे आगे बढ़ रहा है। बुधवार को मॉनसून ने महाराष्ट्र के बड़े हिस्से को अपने दायरे में ले लिया है, लेकिन भीषण गर्मी से जूझ रहे मध्य और उत्तर भारत को अभी भी मानसून के आगमन का इंतजार है।

इन राज्यों में तीव्र गर्मी का प्रकोप

बुधवार को पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, झारखंड के अधिकांश भागों, उत्तरी राजस्थान के कई भागों, हिमाचल प्रदेश के कुछ भागों, दक्षिणी बिहार, उत्तरी ओडिशा तथा पश्चिम बंगाल में गंगा के तटवर्ती क्षेत्रों में भीषण गर्मी का प्रकोप रहा। उत्तराखंड, हिमाचल प्रदेश, पंजाब, झारखंड और पश्चिम बंगाल के गंगा के मैदानी इलाकों में भी भीषण गर्मी की स्थिति देखी गई। पश्चिमी झारखंड, दक्षिणी उत्तर प्रदेश, हरियाणा-चंडीगढ़-दिल्ली, पंजाब, उत्तरी राजस्थान के कुछ हिस्सों में अधिकतम तापमान 45-47 डिग्री सेल्सियस के बीच रहा। उत्तर प्रदेश के कानपुर में सबसे अधिक 47.5 डिग्री तापमान दर्ज किया गया।

दिल्ली में कब तक पहुंचेगा मॉनसून?

दिल्ली में बुधवार को अधिकतम तापमान 44.7 डिग्री सेल्सियस रहा। मौसम विभाग ने जून के अंत तक राजधानी में मॉनसून के आगमन का अनुमान जताया है। दिल्ली में इन दिनों भीषण गर्मी पड़ रही है। पिछले 15 दिनों से अधिकतम तापमान 40 डिग्री सेल्सियस से अधिक दर्ज किया गया है। भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) ने कहा कि इस महीने के अंत तक 27 जून के आसपास शहर में मानसून आने की उम्मीद है। मौसम विभाग ने गुरुवार को अधिकांश स्थानों पर तेज हवाएं चलने और आंशिक रूप से बादल छाए रहने का अनुमान जताया है। अधिकतम और न्यूनतम तापमान क्रमशः 45 और 30 डिग्री सेल्सियस के आसपास रहने का अनुमान है।

मॉनसून की गति धीमी

मौसम विभाग ने बताया कि मॉनसून अगले तीन से चार दिनों के दौरान ओडिशा, तटीय आंध्र प्रदेश और उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी तक पहुंच सकता है। एक अधिकारी ने कहा, “बंगाल की खाड़ी में मॉनसून कमजोर है और इसके वहां से आगे बढ़ने का इंतजार है।” मौसम वैज्ञानिकों का कहना है कि उत्तर-पश्चिम से आने वाली गर्म हवाएं बंगाल की खाड़ी के ऊपर कमजोर मॉनसून पर हावी हो रही हैं और मध्य और उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में गर्म मौसम की स्थिति को बढ़ा रही हैं।

उत्तर भारत में कब तक पहुंचेगा मॉनसून?

पूर्व पृथ्वी विज्ञान सचिव माधवन राजीवन ने कहा कि सामान्य प्रगति के बाद मॉनसून का क्रम भंग हो रहा है। उन्होंने कहा, ‘अगले 8-10 दिनों में बहुत ज्यादा प्रगति की उम्मीद नहीं है, इसलिए उत्तर भारत में इसकी शुरुआत में देरी हो सकती है। इससे दिल्ली, उत्तर प्रदेश और बिहार समेत उत्तर भारत में अत्यधिक तापमान और लू चलने की संभावना है।’ मौसम विभाग के अनुसार, मानसून के बिहार और झारखंड में 16-18 जून तक, उत्तर प्रदेश में 20-30 जून तक और दिल्ली में 27 जून के आसपास पहुंचने की उम्मीद है, जो राष्ट्रीय राजधानी के लिए सामान्य शुरुआत की तारीख है।

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now